DElEd 1st Semester Computer Teaching Shots Question Answer Practice Set

DElEd 1st Semester कम्प्यूटर शिक्षण Computer Teaching Shots Question Answer

प्रश्न 11. उद्देश्य के आधार पर कम्प्यूटर कितने प्रकार के होते हैं ?

उत्तर—उद्देश्य के आधार पर कम्प्यूटर दो प्रकार के होते हैं

(1) सामान्य उद्देश्यीय कम्प्यूटर (General Purpose Computer)—इस प्रकार के कम्प्युटर कई सामान्य प्रकार के कार्य करने के लिए विकसित किये जाते हैं। उदाहरणार्थ

आलेख तैयार करना, आलेख छापना, डेटा बेस तैयार करना तथा उससे सूचनाएँ प्राप्त करना, शब्द प्रक्रिया (Word Processing), कम्प्यूटर डिजाइन तैयार करना इत्यादि कार्य सामान्य उद्देशीय कम्प्यूटरों द्वारा प्रतिपादित किये जाते हैं। ये कम्प्यूटर अनेक प्रकार के सामान्य कार्य बिना फेरबदल के कर सकते हैं। |

(2) विशिष्ट उद्देश्यीय कम्प्यूटर (Special Purpose Computer)–विशिष्ट उद्देश्यीय कम्प्यूटर किसी विशिष्ट कार्य को करने हेतु ही विकसित किये जाते हैं व इनकी प्रक्रिया क्षमता भी उसी विशिष्ट कार्य के आवश्यकतानुसार ही होती है। इस प्रकार के कम्प्यूटरों में यदि आवश्यक हो तो एक से अधिक प्रोसेसर भी संलग्न किये जा सकते हैं। ऐसे विशिष्ट कार्य जिनका निष्पादन सामान्य उद्देश्य कम्प्यूटर से नहीं किया जा सकता, उनके लिए कुछ विशिष्ट उद्देश्यीय कम्प्यूटर कुछ विशिष्ट युक्तियों के साथ संलग्न कर विकसित किये जाते हैं।

प्रश्न 12. आकार एवं क्षमता के तथा गति के अनुसार कम्प्यूटर को कितने भागों में विभाजित किया जा सकता है ?

उत्तर–आकार एवं क्षमता अथवा गति पर आधारित वर्गीकरण

(Classification based on Size and Capacity or Speed) |

आकार एवं क्षमता अथवा गति के आधार पर कम्प्यूटरों को निम्नलिखित भागों में विभाजित किया जाता है—

(i) माइक्रो कम्प्यूटर (Micro Computer)–माइक्रो कम्प्यूटर सूक्ष्मतम आकार के कम्प्यूटर होते हैं। इनमें माइक्रो प्रोसेसर का उपयोग किया जाता है।

(ii) मिनी कम्प्यूटर (Mini Computer)–मिनी कम्प्यूटर माइक्रो कम्प्यूटरों की तुलना में कुछ बड़े, तीव्र तथा महँगे होते हैं।

(iii) मेनफ्रेम कम्प्यूटर (Mainframe Computer)—ये कम्प्यूटर मिनी कम्प्यूटर से अधिक क्षमता वाले कम्प्यूटर होते हैं।

(iv) सुपर कम्प्यूटर (Super Computer)—सुपर कम्प्युटर सबसे अधिक गति, संग्रह क्षमता, प्रयोक्ता वाले कम्प्यूटर हैं। इनमें कई सी. पी. यू. होते हैं, जो समान्तर क्रिया करने में सक्षम होते हैं। इन कम्प्यूटरों में नॉन वॉन न्यूमैन पद्धति का प्रयोग किया जाता है। सुपर कम्प्यूटर में अनेक संसाधन प्रणालियाँ उपयोग की जाती हैं। प्रत्येक संसाधक समान्तर प्रक्रिया करता है। यह कम्प्यूटर 1 करोड़ निर्देश प्रति सेकण्ड से भी अधिक कार्य कर सकता है।

DElEd 1st Semester कम्प्यूटर शिक्षण Computer Teaching Shots Question Answer Sample Paper

प्रश्न 13. लाइट पैन क्या है?

उत्तर–लाइट पैन एक निवेश युक्ति है जिसमें एक स्मॉल (Small) विशिष्ट पैन में फोटो सैल होते हैं। पैन स्क्रीन या स्क्रीन से सम्बन्धित युक्ति पर घूमता हुआ दिखता है तथा जब भी हम आदेश करते हैं, इमेज स्क्रीन में संकलित हो जाती है जिसका प्रिण्ट तैयार किया जा सकता है।

प्रश्न 14. एल्फान्यूमेरिक कुंजियाँ क्या होती हैं ?

उत्तर–एल्फान्यूमेरिक कुंजियाँ (Alphanumeric Keys)—यह कुंजी पटल का केन्द्रीय भाग होता है जिसमें वर्णमाला के अक्षर (A-Z या a-Z) तथा अंकीय (Numbers) करेक्टर), () से (a) तथा अन्य कुछ करेक्टर जैसे ?, ३, $, @, !, &, %, { }, [:]. -,+, * इत्यादि होते हैं। इनके अलावा Shift (शिफ्ट), Enter  (ऐन्टर), Back space , Tab, Esc, Alt इत्यादि कुछ विशेष कुंजियाँ भी होती हैं।

प्रश्न 15. न्यूमेरिक कुंजियाँ किन्हें कहते हैं ?

उत्तर–न्यूमेरिक कुंजियाँ (Numeric Keys)—यह कुंजी पटल पर दाएँ भाग में । स्थित होता है व इसमें कुल 17 कुंजियाँ होती हैं जिसमें 0 से 9 तक के अंकों की कुंजियाँ । होती हैं, जिसमें से चार कुंजियों पर दिशाएँ व्यक्त करने वाले तीर (Arrow) बने रहते हैं, जो कर्सर को चलाने का कार्य भी कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त कुछ अन्य कुंजियाँ भी अंकित होती हैं; जैसे—Numlock, /, *, +, Home, Pg Up Pg Dn, Ins व Enter.

Tagged with: , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*