UPTET Paper Level 1 Samanya Hindi Muhavray And Lokoktiyan Question Answer Paper


  • कहें खेत की सुनें खलिहान की
  • बङों के कान होते हैं आँख नहीं
  • ऊँट न जाने किस करवट बैठे
  • दुःखी व्यक्ति ही किसी के दुःख को समझ सकता है-
  • जाके पाँव न फटी बिवाई, वो क्या जाने पीर पराई
  • बाँह गहे की लाज
  • आप भला तो जग भला
  • बाँझ क्या जाने प्रसव की पीङा
  • विवशतावश कोई काम करना-
  • रपट पङे की हर गंगा(फिसल)
  • दबी बिल्ली चूहे से कान कटाती है
  • वक्त पर गधे को बाप कहा जाता है
  • उतर गई लोई तो क्या करेगा कोई
  • चाहने वाले की इच्छा ही सर्वोपरि होती है-
  • अपना हाथ जगन्नाथ
  • पिया चाहे सो सुहागिन
  • मीटौ सोई जो जाहि भावै
  • बिंध गया सो मोती
  • काम करने के बाद उसके बारे में खोजबीन करना-
  • भँवर के परे नदी सिरावत मौर
  • साँप निकल गया, लाठी पीट रहे हैं
  • पानी पीकर जाति पूछना
  • अन्धी पीसे कुत्ते खाएं
  • कमजोर को सब दबाते हैं-
  • सूघ जानि शंका सब काहू
  • दबे का कोई यार नहीं
  • थके घोङे पर कोई दाब नहीं लगाता
  • निबल की जोरू सबकी भौजाई
  • अपने आप को सबसे बङा समझने वालों का समुदाय-
  • नाई की बारात में सब ठाकुर
  • हम चुनी दीगर नेस्त
  • सरग को मकरजरा कहना
  • अपने मुँह मियाँ मिट्ठू बनाना
  • बङों के सामने छोटों की कौन सुनता है अथवा बङो के सामने छोटों का अस्तित्व न होना-
  • को कहि सकै बङेन सों लखै बङी औ भूल
  • नक्कारखाने में तूती की आवाज
  • बिल्ली की गर्दन में कौन घण्टी बाँधे

  • बङो की बङी बातें होती हैं
  • किसी अच्छे काम करने के कारण आपत्ति आ जाना-
  • आ बैल मुझे मार
  • हवन करते हाथ जलना
  • न अन्धे को न्यौता देते, न दो जने आते
  • जीभ जली स्वाद न आया
  • किसी ओर का न रहना अथवा कहीं का न रहना-
  • धोबी का कुत्ता घर का न घाट का
  • दुविधा में दोनों गए, माया मिली न राम
  • जहाँ देखी बरात, वहीं नाचे सारी रात
  • न खुदा ही मिला न बिसाले सनम
  • पराई वस्तु सदैव अच्छी लगती है-
  • दूसरे की पत्तल , लम्बा-लम्बा भात
  • अपनी अक्ल और दूसरे की दौलत ज्यादा लगती है
  • घर में घर जले , अढी घङी मन्दा
  • दूर के ढोल सुहावने
  • एक बार धोखा खाने के बाद व्यक्ति अधिक सावधाना हो जाता है-
  • ठग कर ठाकुर हो जाना
  • तू डाल-डाल मैं पात-पात
  • दूध का जला छाछ को फूँक-फूँक कर पीता है
  • चिकने घङे पर पानी नहीं ठहरता
  • अपराधी स्वयं ही भयभीत रहता है-
  • चोर की दाङी में तिनका
  • दबी बिल्ली चूहों से कान कटाती है
  • चोर के पैर नहीं होते
  • जादू वह जो सिर पर चढकर बोले
  • जिसकी क्षति होने का भय ही नहीं है.उसकी रक्षा करना व्यर्थ है-
  • क्या नंगा नहाए, क्या निचोङे
  • नंग खङे मैदान में चोर बलैया लेय
  • अरहर की टट्टी गुजराती ताला
  • दलाल का दिवाला क्या, मस्जिद का ताला क्या
  • सहयोग से कार्य आसानी से होता है-
  • दस की लाठी एक जने का बोझ
  • एक और एक ग्यारह होते हैं
  • घोङों का घर कितनी दूर
  • करले सो काम भजले सो राम

  • समाज में उपेक्षित होने पर भी अपने को महान बताने वाले-
  • थोथा चना बाजे घना
  • तीन में न तेरह में मृदंग बजावै डेरे में
  • कोठी वाला रोवे, छप्पर वाला सोवै
  • कौआ चले हंस की चाल
  • अपनी शक्ति के अनुसार ही खर्च करना-
  • घर गेहूँ तो कनक उधारी
  • कर वहिनाँ बल आपनी
  • तेते पाँव पसारिए जेती लम्बी सौर
  • खरी मजूरी चोखा काम

उत्तरमाला

  1. (A)        (A)    3.    (A)    4.    (C)   5.    (A)    6.    (C)   7.    (B)    8.      (A)    9.    (B)    10.   (C)   11.   (C)   12.   (B)    13.   (A)    14.   (D)   15.      (D)   16.   (C)   17.   (B)    18.   (A)    19.   (A)    20.   (B)    21.   (B)    22.      (C)   23.   (C)   24.   (B)    25.   (B)    26.   (A)    27.   (A)    28.   (A)    29.      (B)    30.   (C)   31.   (D)   32.   (A)    33.   (B)    34    (C)   35.   (C)   36.      (A)    37.   (B)    38.       (C)       39.       (BD)    40.       (A)

()

  1. (A)        (A)    3.    (D)   4.    (C)   5.    (A)    6.    (B)    7.    (B)    8.   (C)   9.    (D)   10.   (A)    11.   (A)    12.   (A)    13.   (D)   14.   (D)   15.   (A)   

()

 

  1. (A)        C)    3.    (B)    4.    (B)    5.    (D)   6.    (D)   7.    (A)      8.    (A)    9.    (D)   10.   (D)   11.   (B)    12.   (A)    13.   (B)    14.      (A)    15.   (D)   16.   (A)    17.   (A)    18.   (A)    19.   (B)    20.   (C)      21.   (C)

()

  1. (A)        (B)    3.    (B)    4.    (C)   5.    (D)   6.    (B)    7.    (A)   8.    (C)   9.    (B)    10.   (D)   11.   (C)   12.   (B)    13.   (D)   14.   (C)   15.   (A)    16.   (A)    17.   (B)    18.   (C)   19.   (B)    20.   (A)   21.   (B)    22.   (B)    23.   (D)   24.   (A)    25.   (C)   26.   (A)    27.   (A)    28.   (A)    29.   (B)    30.   (C)        

     

Tagged with: , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*