UPTET Paper Level 1 Samanya Hindi Uccharangat Ashudhiya Question Answer Paper


अदितिय अदितिय
दिवाली दीवाली
निरोग नीरोग
महिना महीना
निरिक्षण निरीक्षण
निरसता नीरसता
शताब्दि शताब्दी
बिमारी बीमारी

उ, ऊ सम्बन्धी भूलें-

अशुद्ध रूप शुद्ध रूप     
अनुदित अनूदित
तुफान तूफान
धूआँ धुआँ
वधु वधू
जरुरत जरूरत
कूआ कुआँ
दुसरा दूसरा
सूई सुई
रुई रूई
गुरू गुरु

द्रष्टव्य- हिन्दी में तदभव और विदेशी शब्दों के अन्त में ऊ की मात्रा लगती है, यथा-आसूँ , आडू, चालू, तम्बाकू, बदबू, बहू, लहू, शुरू, हिन्दू, डाकू इत्यादि.

ऋ सम्बन्धी भूलें-

अशुद्ध  रूप शुद्ध रूप
अनुग्रहीत अनुगृहीत
उरिण उऋण
द्रष्य दृश्य
बृज ब्रज
संग्रहीत संगृहीत
बृटिश ब्रिटिश
आदरित आदृत
दृष्टा द्रष्टा
पैत्रिक पैतृक
श्रंगार श्रृंगार
सृष्टा स्रष्टा
प्रथक पृथक

विशेष-ऋ का प्रयोग संस्कृत शब्दों में होता है, जैसे-ऋषि,कृति, कृतज्ञ, गृहस्थ, मृग, मातृभाषा, वृथा, हृष्टपुष्ट, वृद्धि, वृद्ध इत्यादि.

(ए,ऐ,अय) सम्बन्धी भूलें-


Tagged with: , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*