UPTET Paper Level 1 Bal Vikas Shiksha Shastra Poshak ki Avashyakta Question Answer Papers

UPTET Paper Level 1 Bal Vikas Shiksha Shastra Shikshak Prashikshan ki Avashyakta Question Answer Papers

UPTET Paper Level 1 Bal Vikas Shiksha Shastra Shikshak Prashikshan ki Avashyakta Question Answer Papers : Uttar Pradesh Teacher Eligibility Test (UPTET 2020) Most Important Question With Answer Answer in Hindi English

UPTET Paper Level 1 Baal Vikas Shiksha Shashtra Matrabhasha ki Paribhasha Question Answer
UPTET Paper Level 1 Baal Vikas Shiksha Shashtra Matrabhasha ki Paribhasha Question Answer

शिक्षक प्रशिक्षण की आवश्यकता (UPTET Question Answer)

  1. किसी प्रणाली के तहत् शिक्षकों द्वारा विधार्थी को एक लम्बी अवधि के लिए गृहकार्य दिया जाता है?
  • डाल्टन प्रणाली
  • प्रोजेक्ट प्रणाली
  • मोरीसन प्रणाली
  • इनमें से कोई नहीं
  1. किस प्रणाली के तहत् जीवन से सम्बन्धित कुछ समस्याएँ विधार्थियों को हल करने के लिए दी जाती हैं?
  • डाल्टन प्रणाली
  • प्रोजेक्ट प्रणाली
  • मोरीसन प्रणाली
  • खेल प्रणाली
  1. पाठ्यक्रम के प्रति प्रत्येक विधार्थी में रुचि उत्पन्न करना किस विधि का लक्ष्य है ?
  • खेल विधि
  • समूह विवाद विधि
  • मोरीसन विधि
  • प्रोजेक्ट विधि
  1. किस विधि के अन्तर्गत छात्रों को अपने विचारों को रखने का अवसर दिया जाता है?
  • खेल विधि
  • समूह विवाद विधि
  • मोरीसन विधि
  • प्रोजेक्ट विधि
  1. शिक्षण की नवीन प्रवृतियाँ हैं-
  • आज शिक्षण का अर्थ पथ-प्रदर्शन माना जाता है
  • शिक्षा में दण्ड का उद्देश्य सुधार करना है
  • (A)और(B) दोनों
  • इनमें से कोई नहीं
  1. शिक्षा का उद्देश्य है-
  • ज्ञानार्जन का उद्देश्य
  • सामाजिक उद्देश्य
  • पर्यावरण में समायोजन का उद्देश्य
  • उपर्य़ुक्त सभी

  1. शिक्षा का उद्देश्य नहीं है-
  • जीवन के समस्त पक्ष का विकास
  • जीवन के सिर्फ आर्थिक पक्ष का विकास करना
  • राष्ट्रीय भावना का विकास करना
  • इनमें से कोई नहीं
  1. शिक्षक के लिए प्रशिक्षण का बहुत ही महत्व है, इसलिए-
  • समय –समय पर प्रशिक्षण दी जानी चाहिए
  • पाठ्यक्रम परिवर्तन के अनुसार प्रशिक्षण दिया जाना चाहिए
  • विज्ञान , तकनीक एवं पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए प्रशिक्षण दिया जाना चाहिए
  • उपर्युक्त सभी
  1. शिक्षक प्रशिक्षण का स्वरूप एवं पध्दति निर्भर करती है-
  • सरकार के बजट पर
  • बच्चों की आयु एवं क्षमता पर
  • विज्ञान, तकनीक एवं पर्यावरण पर
  • उपर्युक्त सभी पर
  1. शिक्षकों के लिए प्रशिक्षण होना चाहिए-
  • निजी स्तर पर
  • सरकारी स्तर पर
  • (A)तथा (B) दोनों स्तर पर
  • उपर्युक्त सभी
  1. कक्षा शिक्षण की प्रणाली का शुभारम्भ हुआ-
  • प्राचीनकाल से
  • मध्यकाल से
  • आधुनिक काल से
  • इनमें से कोई नहीं
  1. शिक्षक के प्रशिक्षण की आवश्यकता इसलिए है, क्योंकि-
  • विधार्थियों के व्यवहार को भली-भाँति समझा जा सकता है
  • विधार्थियों को कठोर दण्ड दिया जा सकता है
  • (A)और (B) दोनों
  • इनमें से कोई नहीं

  1. बाल मनोविज्ञान की समझ विकसित करने के लिए आवश्यक है-
  • गणित विषय की जानकारी
  • मनोविज्ञान के व्यावहारिक ज्ञान की जानकारी
  • साहित्य की जानकारी
  • उपर्युक्त सभी
  1. शिक्षक को ध्यान रखना चाहिए-
  • बालक में जिज्ञासा प्रवृत्ति प्रबल होती है इसलिए बालक के प्रश्नों को टालने के बजाय उनका यथासम्भव उत्तर देना चाहिए
  • बालक बर्हिमुखी प्रवृत्ति का होता है, इसलिए विभिन्न यात्राओं का अवसर उपलब्ध करा कर उसकी इस प्रवृत्ति को उभारना चाहिए
  • बालक आत्मप्रदर्शन चाहता है अतः विधालय प्रशासन द्वारा इसके लिए उचित मंच प्रदान करना चाहिए
  • उपर्युक्त सभी
  1. शिक्षा की सार्थकता है-
  • समान विकास में
  • छात्रों के सम्पूर्ण विकास में
  • (A)और (B) दोनों
  • उपर्युक्त में से कोई नहीं
  1. शिक्षक को कक्षा शिक्षा के समय रहना चाहिए-
  • विषय सामाग्री तक सीमित रहना चाहिए
  • छात्रों की अभिरूचियों की भी जानकारी होनी चाहिए
  • (A) और (B) दोनों
  • इनमें से कोई नहीं
  1. कक्षा में शिक्षक द्वारा विधार्थियों से प्रश्न पूछने का उद्देश्य होना चाहिए-
  • पाठ्य के विकास में सहयोग करना होना चाहिए
  • दण्ड के रूप में औपचारिक मात्र होना चाहिए
  • (A)और (B) दोनों
  • इनमें से कोई नहीं
  1. सामान्य रुचि के विषय होते हैं-
  • साहित्य
  • इतिहास
  • कला
  • उपर्युक्त सभी


🤞 Don’t miss these Notes!

We don’t spam! Read more in our privacy policy

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *